Ads

Monday, April 27, 2020

Jai Badri Kedarnath garhwali song lyrics

जय बद्री केदारनाथ ( Jai Badri Kedarnath - गढ़वाली लोकगीत लिरिक्स 


नमस्कार दोस्तों ! आप सभी का हमारी वेबसाइट पर स्वागत है जहां पर हम रोजाना नए गीतों के साथ साथ पुराने गीतों की lyrics आप सभी के साथ साझा करते हैं  ।

आज हम आपके सामने प्रस्तुत करते हैं देवभूमि उत्तराखंड के एक सुप्रसिद्ध लोकगीत  "जय बद्री केदारनाथ" ।

त्रुटियों के लिए क्षमा कीजिएगा और कॉमेंट्स में अपनी राय जरूर बताइगा ।

जय बद्री केदारनाथ



                                 जय बद्री विशाल
                                 जय बाबा  केदार

देना हूईया खोली का गणेशा
देना हुईया मोरी का नारेणा 

जय बद्री केदारनाथ 
जय बद्री केदारनाथ 
गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय 
गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय 

ऐ बाबा केदार तेरो
जन उचो थान,
हो
तन उचो राखी
ये देसा कू मान 
तन  उचो राखी
ये देसा कू मान

जय बद्री केदारनाथ 
गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय 
गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय 


जुग जुग बटी या 
दुनीया रे बाबा त्यारा
दर्शनु कु आनि च
दुख विपदा ते माँ चोढ़ी  की
सुख ऊकरी ली जाणी चा ।

हे बाबा, सुख उखरी ली जानी चा

हे शम्भो ...............

जो जश दे भगवान 
जो जश दे भगवान  

अखंड तेरी ज्योत जले बद्री विशाला 
 हो 

तन राखी अखण्ड
येह मुल्क ये हिमाला
तन राखी अखण्ड
येह मुल्क ये हिमाला

जय बद्री केदारनाथ 
गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय 


हरिजनु को भेद भाव ना
ठाकुर बामण जात पात
आस औलाद अर  देस का खातिर
हिटा भै बैणो साथ  साथ
हिटा भै बहनो साथ  साथ

हे नारायण, सब तेरी छा संतान
सबहि तेरी छा  संतान

जय बद्री केदारनाथ 
जय बद्री केदारनाथ 

गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय 
गंगोत्री जय जय, जमुनोत्री जय जय
     

Jai bardi vishal
🙏🙏🙏🙏

1 comment: